जासूसी विवाद पर भड़के योगी, बोले- विपक्ष अंतर्राष्ट्रीय साजिशों का शिकार हो रहा, जनता से मांफी मागे

जासूसी विवाद पर भड़के योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को पेगासस विवाद पर विपक्ष को घेरा। उन्होंने कहा कि विपक्ष तथ्यहीन और झूठे आरोप लगाकर देश के नेतृत्व को बदनाम करने की कोशिश करना चहता है। देश की छवि खराब करना विपक्ष के एजेंडे में शामिल हो चुका है।

सीएम योगी ने कहा कि विपक्ष पूरी तरह नकारात्मक भूमिका में है और जाने अनजाने उन अंतर्राष्ट्रीय साजिशों का शिकार हो रहा है जो किसी न किसी रूप में भारत को अस्थिर और अस्त-व्यस्त करना चाहते हैं।

सीएम योगी ने कहा कि कोरोना कालखंड के अंदर विपक्ष के इस नकारात्मक रवैये के कारण भारत की छवि पहले ही काफी आहत हुई। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि को खराब करने और भारत को अस्थिर करने के लिए जिन मंसूबों के साथ विपक्ष काम कर रहा है वो अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह कोई पहली घटना नहीं है। 2020 में अमेरिका के राष्ट्रपति के भारत पहुंचने से पहले दिल्ली में भीषण दंगा, साजिश का हिस्सा था। देश के कोविड प्रबंधन को पूरी दुनिया और डब्ल्यूएचओ ने सराहा लेकिन विपक्ष ने ऐसे दिखाया जैसे सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही।

योगी ने कहा कि भारत की छवि को खराब करने का काम विपक्ष कर रहा है। यह अत्यंत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। जब भी देश में कुछ महत्वपूर्ण होना होता है, विपक्ष भारत के खिलाफ माहौल बनाता है और साजिश का हिस्सा बनता है।

सीएम योगी ने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि संसद का यह सत्र बहुत महत्वपूर्ण है। गरीब और पिछड़ों को मंत्री पद दिया गया। उनका परिचय संसद में होना था। विपक्ष को यह रास नहीं आया। संसद को शोरगुल का ठिकाना बना लिया गया है। विपक्ष लगातार देश के खिलाफ साजिश कर रहा है।