Microsoft ने किया खुलासा, Windows 7 यूजर्स Windows 11 में ऐसे कर सकते हैं अपग्रेड

अगर आप अभी भी Windows 7 का इस्तेमाल कर रहे हैं और Windows 11 में अपग्रेड करने की प्लानिंग बना रहे हैं, तो यह संभव हो सकता है। लेकिन इसके लिए एक नए इंस्टाल की जरूरत होगी। लेनोवो (Lenovo) ने Windows 11 FAQ पेज पब्लिश किया है, जो माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के इनपुट पर आधारित है। इससे पता चलता है कि Windows 7 यूजर्स एक नए इंस्टाल के जरिए Windows 11 में अपग्रेड कर सकेंगे। इसके लिए, यूजर्स को PC पर Windows 11 का ‘क्लीन’ इंस्टॉलेशन करने से पहले अपने डेटा का बैकअप लेना होगा।

“खरीदारी के लिए उपलब्ध ज्यादातर डिवाइस Windows 11 में अपग्रेड करने योग्य होंगे। आपके पास Windows 11 में जाने के लिए Windows 10 डिवाइस को अपग्रेड, क्लीन इंस्टॉल या रीइमेज करने का ऑप्शन होगा।  लेनोवो की वेबसाइट पर दी गई गाइड के मुताबिक, हार्डवेयर जरूरतों को पूरा करने वाले Windows 7 डिवाइस के लिए, आपको सीधे Windows 11 पर जाने के लिए इंस्टॉल या री-इमेज करना होगा।”

जबकि यह गाइड Lenovo यूजर्स के लिए पोस्ट किया गया है। हालांकि, ये दूसरे डिवाइस पर भी लागू होता है जो Windows के पुराने वर्जन का इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन, इससे पहले आपको यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि आपका PC Windows 11 के अनुकूल है।

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) का कहना है कि यूजर्स उन PC पर Windows 11 इंस्टॉल करने में सक्षम होंगे जो Intel 8th जनरेशन के चिप्स, AMD Zen  2 चिप्स, क्वालकॉम 7/8 सीरीज़ चिप्स या नए वर्जन चला रहे हैं। पहले यूजर्स Microsoft के “PC Health Check app” को डाउनलोड कर सकते थे ताकि यह पता लगाया जा सके कि आपका लेटेस्ट PC Windows 11 चलाने के लिए जरूरत को पूरा करता है या नहीं।

माइक्रोसॉफ्ट के मुताबिक, यूजर्स को बुनियादी सिस्टम रिक्वायरमेंट को देखने के लिए Microsoft Windows 11 वेबसाइट पर जाना होगा। अभी के लिए, माइक्रोसॉफ्ट का कहना है कि विंडोज 11 में CPUs के लिए एक एम्बेडेड TPM, सिक्योर Boot का सपोर्ट, 1Ghz से ज्यादा स्पीड, dual- कोर प्रोसेसर की जरूरत होती है। इसी के साथ कम से कम 4GB रैम और 64GB स्टोरेज की भी जरूरत है।