Cryptocurrency का नाम क्यों चमक रहा है, जानिए किस तकनीक पर करती है काम

Cryptocurrency

Cryptocurrency को लेकर काफी खबरें विश्व के अलग-अलग देशों से आ रही हैं। आरबीआई समेत कई नियामक इसपर पाबंदी की बात कर रहे हैं। बता दें कि Cryptocurrency ब्लॉकचेन तकनीक पर काम करती है।

ब्लॉकचेन तकनीक को हालांकि प्रोत्साहित करने की बात की जा रही है। बता दें कि भआरत में अभी Cryptocurrency के इस्तेमाल के संबंध में कोई भी प्रतिबंध नहीं है और न ही इसको लेकर सरकार ने अभी तक कोई नियम भी बनाए हैं। ऐसे में यहां पर पैसा डूबने का खतरा ज्यादा है।

क्‍या है Blockchain technology

जानकारों की मानें तो ब्लाकचेन टेक्नोलाजी के जरिए कागजातों को डिजिटल रूप से सुरक्षित किया जा सकता है। इससे कोई अन्य व्यक्ति इसमें किसी भी तरह से छेड़छाड़ या बदलाव नहीं कर सकता है।

Bitcoin, Ether एक प्राइवेट क्रिप्‍टोकरंसी है, जिस पर किसी नियामक का बस नहीं है। इन करंसी को एक डिजिटल मीडियम कहा जा सकता है। ऐसा माध्‍यम जिसके जरिए खरीद-फरोख्‍त हो सकती है। विशेषज्ञ के मुताबिक इसे करंसी नाम देना सही नहीं है क्‍योंकि इसकी कोई स्‍थायी वैल्‍यू नहीं है।

RBI का मानना है कि Blockchain तकनीक का इस्‍तेमाल बैंकिंग सेक्टर नेटवर्क को और सुरक्षित बनाने में हो सकता है। ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के इस्‍तेमाल से सर्वर हैकिंग, आइडेंटिटी थेफ्ट जैसे खतरों से बचा जा सकता है। भारत में इस तकनीक के इस्‍तेमाल से सरकारी फाइलों का डिजिटाइजेशन भी किया जा रहा है।