धर्मांतरण मामला : उमर गौतम से जुड़े दो एनजीओ की फंडिंग पर गृह मंत्रालय ने लगाई रोक

उत्तर प्रदेश धर्मांतरण मामला

लखनऊ। अवैध धर्मांतरण के मामले में पकड़े गए मुख्य आरोपित उमर गौतम से जुड़े दो एनजीओ की फंडिंग पर रोक लगा दी गई है। हालांकि यह रोक छह माह तक के लिए है।

अवैध धर्मांतरण मामले में पकड़े गए मुख्य आरोपित उमर गौतम से जुड़ी दो संस्थाएं हैं। एक संस्था मलिहाबाद क्षेत्र स्थित हबीबपुर रहमानखेड़ा के पते पर ‘अल हसन एजुकेशनल एंड वेलफेयर फाउंडेशन’ के नाम से पंजीकृत है।

दूसरी संस्था मेवात ट्रस्ट फॉर एजुकेशनल वेलफेयर है, जो हरियाणा के फरीदाबाद जिले में स्थित फतेहपुर तागा गांव के पते से पंजीकृत होने की बात सामने आयी है। इन संस्थाओं को विदेश से फंडिंग होती थी।

मामला धर्मांतरण से जुड़ने और जांच के दौरान संस्थाओं को मिलने वाले फंडिंग का गलत दुरुपयोग होने के कारण दोनों एनजीओ की फंडिंग पर छह माह के लिए रोक लगा दी गई है। फॉरेन कंट्रीब्यूशन रेगुलेशन एक्ट 2010 (एफसीआरए) के तहत इस मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से कार्रवाई की गई है।