टोक्यो ओलंपिक: पदक के करीब पहुंची भारतीय मुक्केबाज लवलीना, सेमीफाइनल में बनाई जगह

भारतीय मुक्केबाज लवलीना

भारतीय मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन ने टोक्यो ओलंपिक में देश के लिए दूसरा पदक पक्का कर लिया है। लवलीना ने 69 किलो वेल्टरवेट कैटेगरी के सेमीफाइनल में जगह बना ली है।

लवलीना ने क्वार्टर फाइनल में चीनी ताइपे की निएन चिन को 4-1 से शिकस्त दी। सेमीफाइनल में उनका सामना मौजूदा विश्व चैम्पियन तुर्की की बुसेनाज सुरमेनेली से होगा।

लवलीना ने पहला राउंड 3-2 से जीता। पहले राउंड में दोनों मुक्केबाजों के बीच कांटे का मुकाबला देखने को मिला। लवलीना ने शानदार हुक लगाए और बेहतर डिफेंस का नजारा प्रस्तुत किया। दूसरे राउडं मे लवलीना ने विरोधी मुक्केबाज को संभलने का कोई भी मौका नहीं दिया। उन्होंने दूसरा राउंड 5-0 जीता।

इस राउंड में लवलीना ने आक्रामक खेल दिखाया। चिन ने कुछ टक्कर देने की कोशिश की पर लवलीना ने उनके पंचों का अच्छी तरह से बचाब किया।

24 वर्षीय लवलीना ने असम के एक छोटे से गांव से ओलंपिक तक का सफर तय किया है। लवलीना असम के गोलाघाट जिले में पड़ने वाली सरुपथर विधानसभा के छोटे से गांव बरोमुखिया की रहने वाली हैं।

उनके गांव में महज 2 हजार की आबादी है। दो बार विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीत चुकीं लवलीना असम की पहली मुक्केबाज हैं जिन्होंने ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया है।