Home क्राइम धनबाद जिला जज की मौत का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, सीबीआई जांच...

धनबाद जिला जज की मौत का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, सीबीआई जांच की मांग

धनबाद जिला अदालत

झारखंड के धनबाद जिला अदालत के जज अष्टम उत्तम आनंद की कथित हत्या का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। गुरुवार को वरिष्ठ वकील और पूर्व एडिशनल सॉलिसिटर जनरल विकास सिंह ने सुप्रीम कोर्ट के सामने इस मामले को उठाया।

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की तरफ से जनरल विकास सिंह ने उच्चतम न्यायालय से इस मामले में स्वत: संज्ञान लेने और सुनवाई करने का अनुरोध किया। विकास सिंह ने मामले की सीबीआई जांच कराने की भी मांग की।

बता दें कि बुधवार को जज उत्‍तम आनंद (उम्र 50 वर्ष) को ऑटो ने उस वक्‍त टक्‍कर मार दी थी जब वह मार्निंग वॉक से लौट रहे थे। न्यायाधीश गोल्फ ग्राउंड से टहल कर वापस हीरापुर बिजली ऑफिस के बगल में स्थित अपने क्वार्टर लौट रहे थे।

रणधीर वर्मा चौक से चंद कदम की दूरी पर गंगा मेडिकल के सामने हादसा हुआ। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है। फुटेज देखने के बाद पुलिस ऑटो चालक की मंशा पर सवाल उठा रही है। शक पैदा होने पर जज के पोस्टमार्टम के लिए डीसी के आदेश पर आनन-फानन में मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया था।

डॉक्टरों की टीम ने देश शाम न्यायाधीश के शव का पोस्टमार्टम किया। बताया जा रहा है कि सिर में गंभीर चोट के कारण उनके कान से रक्तश्राव हो गया। ब्रेन हेम्ब्रेज से मौत की बात कही जा रही है।

झारखंड सरकार ने दिए जांच के आदेश

वहीं इस मामले में झारखंड सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। राज्य सरकार ने जिला जज के कथित हत्या के मामले में उच्च स्तरीय समिति बनाने और एक सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा है। दूसरी तरफ न्यायाधीश उत्तम आनंद की पत्नी कृति सिन्हा ने धनबाद थाना में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराया है।

Exit mobile version