पीएम मोदी ने किया जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास, जानें भाषण की प्रमुख बातें

पीएम मोदी जेवर एयरपोर्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नोएडा के जेवर में जेवर एयरपोर्ट (नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट) का शिलान्यास किया। ग्रेटर नोएडा के जेवर में एशिया के सबसे बड़े और दुनिया के चौथे सबसे बड़े एयरपोर्ट की नींव रखी गई। इस मौके पर पीएम मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि जेवर एयरपोर्ट कनेक्टिविटी को आसान बनाएगा।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि यह उत्‍तर प्रदेश को अंतरराष्ट्रीय बाजारों से जोड़ने का काम करेगा। उन्होंने विपक्ष और पिछली गैर-बीजेपी सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि आजादी के बाद से यूपी की छवि नकारात्‍मक बनाकर रखी गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि हमारे देश में कुछ राजनीतिक दलों ने हमेशा अपने स्वार्थ को सर्वोपरि रखा है। इन लोगों की सोच अपना स्वार्थ, सिर्फ अपना खुद का और परिवार के विकास पर ही ध्‍यान दिया है जबकि हम राष्ट्र प्रथम की भावना पर चलते हैं।

बुनियादी ढांचे का विकास हमारे लिए राजनीति का नहीं वरन राष्ट्रनीति का हिस्सा है। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि परियोजनाएं अटकें या भटकें नहीं। हमारी कोशिश है कि परियोजनाओं का काम तय समय के भीतर पूरा किया जाए।

सपा सरकार पर साधा निशाना

प्रधानमंत्री मोदी ने यूपी में पूर्व अखिलेश यादव सरकार पर भी निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में पहले जो सरकार थी उसने तो बकायदा चिठ्ठी लिखकर तब की केंद्र सरकार को कह दिया था कि इस परियोजना को बंद कर दिया जाए लेकिन आज डबल इंजन सरकार की ताकत से हम उसी एयरपोर्ट के शिलान्यास के साक्षी बन रहे हैं।

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि दो दशक पहले यूपी की भाजपा सरकार ने जेवर एयरपोर्ट प्रोजेक्ट का सपना देखा था। उसके बाद ये एयरपोर्ट अनेक वर्षों तक दिल्ली और लखनऊ में जो सरकारें रहीं उनकी खींचतान में उलझा रहा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आजादी के बाद उत्‍तर प्रदेश को ताने सुनने के लिए मजबूर कर दिया गया था। कभी गरीबी, कभी घोटालों, कभी खराब सड़कों तो कभी माफियाओं के ताने सुनने में आते थे। पहले दशकों तक परियोजनाएं अटकी रहती थीं और दूसरों पर इसका ठीकरा फोड़ा जाता था। मौजूदा वक्‍त में हमारी डबल इंजन की सरकार के कार्यकाल में यूपी अंतरराष्ट्रीय छाप छोड़ रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों ने उत्तर प्रदेश को अभाव और अंधकार में बनाए रखा। पहले की सरकारों ने जिस उत्तर प्रदेश को हमेशा झूठे सपने दिखाए। आजादी के सात दशक बाद पहली बार उत्तर प्रदेश को वो मिलना शुरु हुआ है जिसका वह हमेशा से हकदार रहा है।