पेगासस विवाद: कंपनी ने लगाई स्पायवेयर बेचने पर रोक, अब दुनिया की सरकारें नहीं कर पाएंगी इस्तेमाल

पेगासस की बिक्री पर रोक

नई दिल्ली। पेगासस स्पायवेयर बनाने वाली इजरायल की साइबर सिक्योरिटी फर्म एनएसओ ने दुनिया भर की सरकारों को पेगासस को बेचने पर रोक लगा दी है। मीडिया रिपोट्स के मुताबिक, कंपनी ने यह फैसला स्पायवेयर के गलत इस्तेमाल को लेकर हुए विवाद के बाद लिया है।

बता दें कि इस स्पायवेयर का इस्तेमाल करने वाले सरकारी क्लाइंट्स को ही इजरायली कंपनी की ओर से सेवाएं दी जाती रही हैं। लेकिन विवाद के बाद उस पर रोक लगा दी गई है।

हालांकि कंपनी के कर्मचारी ने यह जानकारी नहीं दी है कि किन सरकारों को कंपनी ने यह स्पायवेयर बेचा है और किन पर यह रोक लगाई गई है। कंपनी की ओर से यह फैसला इजरायल की अथॉरिटीज की ओर से एनएसओ के दफ्तर पर जांच के लिए पहुंचने के एक दिन बाद लिया गया है।

भारत समेत कई देशों के मीडिया संस्थानों ने एक साझा रिपोर्ट में दावा किया है कि पेगासस का इस्तेमाल कर 50,000 से ज्यादा लोगों की जासूसी की गई है। इन लोगों में विपक्षी नेता, पत्रकार, सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारी समेत कई लोग शामिल हैं।

संसद में हो रहा है हंगामा

बता दें कि भारत में पेगासस स्पायवेयर को लेकर रोजाना संसद में हंगामा हो रहा है। दोनों सदनों में भी मॉनसून सेशन के दौरान हंगामा जारी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एनएसओ के कर्मचारी ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया कि कई क्लाइंट्स को लेकर जांच चल रही है। इनमें से कुछ क्लाइंट्स को दी जा रही सर्विसेज को सस्पेंड कर दिया गया है।