पाकिस्तानी पीएम इमरान खान का बेतुका बयान, तालिबान आतंकी को बताया ‘आम नागरिक’

इमरान खान का बयान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबान आतंकियों को आम नागरिक बताया है। उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका ने अफगानिस्तान में सब बर्बाद कर दिया। इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान में 30 लाख शरणार्थी रहते हैं और पाकिस्तान कैसे उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकता है। इन शरणार्थी में ज्यादातर पश्तून हैं। यह वही जातीय समूह है जो अफगानिस्तान में लड़ रहा है।

पीबीएस के एक इंटरव्यू में इमरान खाने ने कहा कि अब उनके 5 लाख लोगों के शिविर हैं। तालिबान किसी तरह का सैन्‍य संगठन नहीं है, वे सामान्‍य नागरिक हैं। अगर इन शिविरों में आम नागरिक हैं तो पाकिस्‍तान उनके खिलाफ कैसे कार्रवाई कर सकता है। आप उनको आतंकियों की शरणस्‍थली कैसे कह सकते हैं।’

पाकिस्तान पर तालिबान की मदद का आरोप

पाकिस्तान पर लंबे समय से ये आरोप लगता रहा है कि वह अफगान सरकार के खिलाफ तालिबान की सैन्य, वित्तीय और खुफिया मदद कर रहा है। हालांकि इमरान खान ने इन आरोपों को खारिज कर दिया और कहा कि यह पूरी तरह से अनुचित है।

वहीं संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की रिपोर्ट के मुताबिक, तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के 6 हजार आतंकी अफगान सीमा के अंदर सक्रिय हैं। वे तालिबान की मदद कर रहे हैं। पिछले दिनों तालिबान की मदद करने को लेकर पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच जुबानी जंग भी तेज हुई है।

बता दें कि अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने तालिबान को समर्थन देने के लिए ताशकंद में आयोजित अंतरराष्ट्रीय शिखर सम्मेलन में ही पाकिस्तान की आलोचना की थी। सम्मेलन में पाकिस्तानी पीएम इमरान खान भी मौजूद थे।