आसियान के आग्रह का म्यांमार सैनिक सरकार ने नहीं दिया जवाब, राजनीतिक बंदियों की रिहाई पर संशय कायम

म्यांमार सैनिक सरकार

यंगून। दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के संगठन आसियान ने म्यांमार में लोकतांत्रिक सरकार को अपदस्थ कर सैन्य शासन स्थापित होने के बाद विरोध प्रदर्शन करने वाले सभी राजनीतिक कैदियों के रिहाई की मांग की है। साथ ही आसियान ने एक फरवरी को तख्तापलट के बाद से जारी अशांति समाप्त कर शांति व्यवस्था स्थापित करने के लिए क्षेत्रीय सहमति लागू करने पर चर्चा करने को कहा है।

म्यांमार की सैनिक सरकार ने अप्रैल में म्यांमार समेत आसियान के 10 देशों के बीच पांच सूत्रीय समझौते की दिशा में आगे बढ़ने पर कोई संकेत नहीं दिया है। आसियान देशों ने हिंसा खत्म करने, राजनीतिक बातचीत और क्षेत्रीय विशेष राजनयिक नामित करने का आह्वान किया है।

आसियान के राजनयिकों ने शुक्रवार को म्यांमार की राजधानी में सैनिक सरकार के अगुआ मिन अंग हलैंग के साथ मुलाकात की थी। आसियान ने कहा कि पांच बिंदुओं को लागू कर म्यांमार किस तरह अपने लोगों के हित में शांतिपूर्ण समाधान तक पहुंच सकता है। राजनयिकों ने भी महिलाओं और बच्चों समेत सभी राजनीतिक बंदियों को रिहा करने की अपील की है।

म्यांमार की अपदस्थ नेता अंग सान सू की के खिलाफ आपराधिक मामले की सुनवाई जुलाई में पूरी हो जाएगी। अपदस्थ नेता के वकील खिन मौंग जाव ने सोमवार को बताया कि अभियोजन को 28 जून तक जबकि बचाव को 26 जुलाई तक सुनवाई पूरी कर लेनी है। इसके लिए हर सोमवार और मंगलवार को सुनवाई होगी।