बेरहम आतंकी- पहले स्कूल में घुसे, फिर चेक किया पहचान पत्र और फिर मार दी गोली

कश्मीर में शिक्षक की हत्या

जम्मू कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में फिर से लगातार वृद्धि हो रही है। बीते दिनों से लगातार घाटी में आम आदमी को निशाना बनाया जा रहा है। श्रीनगर के ईदगाह इलाके में सरकारी स्कूल के अंदर हुई हत्याओं की वारदात ने सबको हिला दिया।

परिसर के अंदर घुसे आतंकियों ने दो टीचरों को निशाना बनाते हुए ताबड़तोड़ गोलियां चलाई और उनकी हत्या कर दी। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो आतंकियों ने दोनों टीचरों का पहचान पत्र देखा और उसके बाद उनकी हत्या की।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकियों ने पहचान पत्र देखकर पाया कि महिला प्रिंसिपल कश्मीरी सिख समुदाय की हैं। वहीं टीचर कश्मीरी पंडित है। उन्होंने दोनों के शरीर में बंदूक सटाई और ताबड़तोड़ गोलियों की बारिश कर दी। दोनों को मारने के बाद आतंकी मौके से भाग निकले।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पिस्टल चलाने वाले तीन आतंकवादी संगाम ईदगाह बॉयज हायर सेकेंडरी स्कूल में सुबह करीब 10.30 बजे घुस गए। इन दिनों ऑनलाइन कक्षाएं चल रही हैं इसलिए स्कूल में कोई बच्चे नहीं थे। सिर्फ स्कूल के स्टाफ को सुबह कुछ घंटों के लिए बुलाया जा रहा था।

बताया जा रहा है कि आतंकियों ने सारे स्टाफ का पहचान पत्र चेक किया। उन्होंने इस बात की पुष्टि की कि उनमें से कौन कश्मीरी मुसलमानों के अलावा किसी अन्य समुदाय से था। चेकिंग के बाद आतंकियों ने 44 वर्षीय सुपिंदर कौर और उनके सहयोगी दीपक चंद को बाहर कर दिया। बाद में फिर दोनों की हत्या कर दी।