घर में छिपकली दिखने का क्या मतलब होता है? जाने रहस्य

छिपकली ऐसा जानवर है जो घरों में पाया जाता है। घर की दीवारों पर रात के समय छिपकली अक्सर आपको दिखाई दे देगी। छिपकली एक मांसाहारी जीव है जो रात में कीड़े मकोड़े का सेवन करते हैं। आमतौर पर छिपकली बोलती नहीं है या फिर कम बोलती है। बहुत कम लोग छिपकली को बोलते हुए सुन पाते हैं। घर में छिपकली का दिखना कई प्रकार के संकेतों को बताता है।

भारत में छिपकली को अपशकुन से भी जोड़कर देखा जाता है। घर में छिपकली होने के कई तरह के मायने निकाले जाते हैं। लोगों के मन में छिपकली को लेकर कई तरह की धारणाएं होती हैं। हिंदू धर्म ग्रंथों में छिपकली को लेकर कई तरह की बातें कही गई है।

घर में छिपकली का होना शुभ और अशुभ दोनों होता है। छिपकली को माता लक्ष्मी का रुप माना जाता है। घर में रात में छिपकली का दिखना कई प्रकार का संकेत देता है। यदि छिपकली दीपावली की रात किसी को दिखाई दे तो यह अत्यंत ही शुभ होता है। शकुन शास्त्र के मुताबिक, दीपावली की रात को छिपकली देखने का मतलब होता है कि उस व्यक्ति के घर में धन की वर्षा होने वाली है।

दीपावली की रात को छिपकली का दिखना सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। यदि रात में किसी को छिपकली दिखाई देता है तो इसे शुभता से जोड़कर देखा जाता है। इसी प्रकार छिपकली का जमीन पर गिरना भी शुभ अशुभ संकेत को बतलाता है।

यदि कोई व्यक्ति अपने नए घर में प्रवेश कर रहा हो और घर के दरवाजे पर मरी हुई छिपकली उसे दिखाई दे तो यह बहुत ही बड़ा अपशकुन माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि उस घर में नकारात्मक शक्तियों का वास है। ऐसे घर में प्रवेश करने पर या रहने पर घर के सदस्य अक्सर बीमार रहते हैं।

घर में मरी हुई छिपकली देखने से होने वाले अपशकुन से बचने के लिए पूर्ण विधि-विधान से पूजा करा कर ही नए घर में प्रवेश करना चाहिए।