महाराष्ट्र में बाढ़ से निपटने के लिए नौसेना की टीमें उतरीं, अतिरिक्त बाढ़ बचाव दल अलर्ट पर

महाराष्ट्र में बाढ़

महाराष्ट्र में लगातार बारिश से बिगड़ते हालात को देखते हुए राज्य सरकार ने भारतीय नौसेना की मदद मांगी है। इस पर पश्चिमी कमान ने मुंबई राज्य प्रशासन को सहायता प्रदान करने के लिए प्रभावित इलाकों में 9 बाढ़ बचाव दल और हेलीकॉप्टर भेजे हैं।

नौसेना के प्रवक्ता के अनुसार, प्रतिकूल मौसम और प्रभावित क्षेत्रों में व्यापक बाढ़ के बावजूद सात नौसैनिक बचाव दलों को मुंबई से रत्नागिरी और रायगढ़ जिलों में तैनाती के लिए सड़क मार्ग से रवाना किया गया है। रायगढ़ जिले में फंसे कर्मियों को एयरलिफ्ट भी किया जा रहा है। मुंबई तट पर तैनात जलपोत आईएनएस शिकारा से एक सीकिंग 42सी हेलो शुक्रवार को सुबह के समय पोलादपुर/रायगढ़ में बचाव के लिए भेजा गया है।

नौसेना के बाढ़ बचाव दल पूरी तरह से आत्मनिर्भर हैं और जेमिनी रबर बोट, लाउड हैलर, प्राथमिक चिकित्सा किट, लाइफ जैकेट और लाइफ बॉय से लैस हैं। इन बचाव दलों में नौसेना के विशेषज्ञ गोताखोर भी विशेष उपकरणों के साथ भेजे गए हैं। जरूरत पड़ने पर अतिरिक्त बाढ़ बचाव दलों को मुंबई में उच्च स्तर की तत्परता के साथ अलर्ट पर रखा गया है।

रायगढ़ में भूस्खलन से 36 की मौत

रायगढ़ में लगातार हो रही बारिश की वजह से पहाड़ का मलबा गिर गया। हादसे में 36 लोगों की मौत हो गई और 70 से ज्यादा लोग लापता हो गए हैं। 15 लोगों को अभी तक बचाया जा सका है। 30 से ज्यादा लोगों के अभी भी मलबे में दबे होने की आशंका है।

एनडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है। हालांकि, भारी बारिश के कारण राहत कार्य में यहां भारी दिक्कत आ रही है।