हमारे लिए भगवान से कम नहीं हैं किसान – जानें क्यों कही रक्षामंत्री ने यह बात?

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

अवध क्षेत्र के बूथ सम्मेलन में पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसानों को भगवान समान बताया। उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध के हीरो कैप्टन मनोज पांडेय की यह जन्म स्थली है। सीतापुर की मां के कोख में जन्मे मनोज पांडेय ने कारगिल युद्ध में अदम्य साहस का परिचय दिया था। देश की अखंडता के लिए अपनी जान को न्यौछावर कर दिया था। ऐसे वीरों की धरती है सीतापुर।

रक्षामंत्री ने कहा कि देश के लिए अपना जीवन अर्पण करने वालों को याद किया जाना चाहिए। सात दिन पहले भारत और चीन की सीमा पर रेजांगला में था। मुझे बताया गया कि वहां आज तक कोई रक्षा मंत्री नहीं गया। जिन लोगों ने ऐसी धरती पर रहकर देश की सीमाओं की रक्षा की वहां मैं गया।

चार माह पहले जब मैं लद्दाख गया, वहां भारत और चीन के बीच युद्ध हुआ था। वहां पता चला कि यहां भारत के 124 सैनिकों ने चीन के हजारों सैनिकों का सामना किया और चीन को भारी नुकसान पहुंचाया था। भारत की एकता, अखंडता की रक्षा के लिए ऐसे ही वीर जवानों की जरूरत होती है।

बूथ कार्यकर्ताओं में उन्होंने देश भक्ति का उत्साह बढ़ाया। उन्होंने कहा रायबरेली के सी-1 के बूथ अध्यक्ष रामसेवक से बात की। उन्नाव के आदर्श नगर आंशिक के अमर वर्मा, सीतापुर के विवेक विश्वकर्मा से बात की। पूर्वी लखेड़ा लखीमपुर के रोहित, हरदोई के अभिषेक, बलरामपुर से चंद्र कुमार मौर्य, बहराइच से घनश्याम, रनियापुर के विशाल तिवारी आदि से बात की।

किसान हमारे लिए भगवान

रक्षामंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने गन्ना किसानों का संपूर्ण भुगतान किया है। किसान को हम लोगों ने भगवान माना है। तीन कृषि कानून संसद में पास हुए थे। इनका विरोध किया गया। प्रधानमंत्री ने बड़प्पन दिखाया। इनको वापस ले लिया गया। हम सत्ता में रहें या न रहें, किसानों का उत्पीड़न नहीं कर सकते।

किसानों के सामने हमारा सिर झुका है। गैर भाजपाई सरकारों में किसानों पर गोलियां चलीं। सपा सरकार ने राम भक्तों पर गोली चलाई है। हम न किसानों पर गोली चला सकते न राम भक्तों पर। धर्म, जाति, मजहब के आधार पर सत्ता नहीं चाहते। यह सत्ता मंजूर नहीं। यह सपा ही कर सकती है।