आस्था को आतंक से कुचला नहीं जा सकता, सोमनाथ हमारे विश्वास का प्रेरणास्थल – पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

देश के ऐतिहासिक सोमनाथ मंदिर में पीएम मोदी ने कई योजनाओं की शुरुआत की। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पीएम मोदी ने सोमनाथ समुद्र दर्शन, पैदल पथ, सोमनाथ प्रदर्शनी केंद्र, अहिल्याबाई होलकर मंदिर का उद्घाटन किया। इसके साथ ही सोमनाथ मंदिर परिसर में श्री पार्वती मंदिर का आधारशिला भी रखी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सावन के महीने में एक बड़ी शुरुआत हुई है। आस्था को आंतक से कुचला नहीं जा सकता, सोमनाथ मंदिर हमारे विश्वास का प्रेरणास्थल है।

उन्होंने कहा कि सोमनाथ मंदिर का अस्तित्व मिटाने की कई बार कोशिश हुई, मंदिर जितनी बार गिराया गया उतनी ही बार खड़ा हुआ। आतंक ज्यादा दिनों तक मानवता को नहीं गिरा सकता है। आतंक का अस्तित्व स्थायी नहीं हो सकता है। दुनिया आज भी आतंक की विचारधारा से पीड़ित है।

पीएम मोदी ने कहा, ‘अतीत के खंडहरों पर आधुनिक गौरव का निर्माण हुआ है। समृद्ध भारत का प्रतीक है सोमनाथ मंदिर। देश का मूल भाव है सबका साथ, सबका विकास।’

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि जो तोड़ने वाली शक्तियाँ हैं, जो आतंक के बलबूते साम्राज्य खड़ा करने वाली सोच है, वो किसी कालखंड में कुछ समय के लिए भले ही हावी हो जाएं लेकिन, उसका अस्तित्व कभी स्थायी नहीं होता, वो ज्यादा दिनों तक मानवता को दबाकर नहीं रख सकती।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि सोमनाथ मंदिर को भव्यता देने का काम जारी है। धार्मिक पर्यटन से राजस्व में इजाफा होगा और साथ ही इससे युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। इस कार्यक्रम में गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवानी भी शामिल हुए।