हमास मिसाइल हमले में मृत भारतीय नर्स का पार्थिव शरीर पहुंचा स्वदेश

भारतीय नर्स सौम्या संतोष

नई दिल्ली। उग्रवादी संगठन हमास द्वारा इजरायल में किए गए मिसाइल हमले का शिकार हुई भारतीय नर्स सौम्या संतोष के पार्थिव शव को आज सुबह भारत लाया गया और यहां से उसे उनके निवास पहुंचाया जाएगा।

केरल के इडुक्की जिले की रहने वाली सौम्या का पार्थिव शरीर सुबह दिल्ली हवाई अड्डे पहुंचा था। केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन और इज़राइल की उप राजदूत रोनी येदिदिया क्लेन उन्हें वहां पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद मृत देह को उनके निवास पहुंचाया जाएगा।

केन्द्रीय विदेश राज्यमंत्री मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा कि भारी मन से दिल्ली में सौम्या संतोष के पार्थिव शरीर को प्राप्त किया और उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि दी। इज़राइल दूतावास की उप राजदूत रोनी येदिदिया क्लेन भी उनके साथ मौजूद रहीं। वह सौम्या के परिवार की दर्द और पीड़ा के प्रति सहानुभूति रखती हैं और कामना करते हैं कि उन्हें दुख का सामना करने के लिए ताकत मिले।

उल्लेखनीय है कि पिछले कई दिनों से फिलिस्तीनी संगठनों और इजरायली सुरक्षा बलों के बीच हिंसक संघर्ष जारी है। उग्रवादी संगठन हमास ने इजरायल के दक्षिणी नगरों के साथ ही तेलअबीब को भी निशाना बनाया है।

सौम्या संतोष (31) दक्षिण इजरायल के अश्कलोन नगर में एक वृद्ध इजरायली महिला की कई वर्षों से देखभाल कर रही थी। हमास की ओर से किए गए मिसाइल हमले का सायरन बजने के बाद वह सुरक्षित आश्रय स्थल पर जाने की तैयारी कर रही थी। उसी समय गाजा पट्टी से छोड़ा गया मिसाइल उनकी फ्लैट पर गिरा। इसमें सौम्या की मृत्यु हो गई।