पहली बार देश में कोरोना के डबल वेरिएंट का अटैक, एक ही व्यक्ति में दो वेरिएंट मिले

Corona double variant attack in the country for the first time

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अभी थमी नहीं है। साथ देश में तीसरी लहर आने की आशंका बार-बार जताई जा रही है। इस बीच कोरोना के डबल वेरिएंट का अटैक का खतरा भी बढ़ गया है। देश में पहली बार किसी व्यक्ति में कोरोना दो वेरिएंट एक साथ मिले हैं।

असम में एक महिला डॉक्टर को एक ही समय पर कोरोना वायरस के दो अलग-अलग वैरिएंट से संक्रमित पाया गया है जो देश में इस तरह का पहला मामला हो सकता है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के क्षेत्रीय मेडिकल रिसर्च सेंटर (RMRC) के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ बी बोरकाकोटी ने यहां यह जानकारी दी।

असम में संक्रमित महिला डॉक्टर कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बावजूद कोरोना के अल्फा और डेल्टा दोनों वेरिएंट से संक्रमित पाई गईं। आरएमआरसी की प्रयोगशाला में मई में मरीज में कोरोना वायरस के दोहरे संक्रमण का पता चला था।

आइसीएमआर के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ बी बोरकाकोटी ने कहा कि दोहरे संक्रमण के कुछ मामले ब्रिटेन, ब्राजील और पुर्तगाल में सामने आए थे लेकिन इस तरह का मामला भारत में पहले कभी सामने नहीं आया है।

टीके की दोनों डोज लेने के करीब एक महीने बाद महिला और उनके पति कोरोना वायरस के अल्फा स्वरूप से संक्रमित मिले थे। वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कहा कि हमने दोबारा दंपति के नमूने एकत्र किए और परीक्षण के दूसरे चरण में महिला डॉक्टर में दोहरे संक्रमण की पुन: पुष्टि हुई।

उन्होंने बताया कि महिला डॉक्टर में हल्की गले की खराश, बदन दर्द और नींद न आने के हल्के लक्षण थे और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत नहीं पड़ी। बता दें कि इससे पहले कोरोना के डबल वेरिएंट का मामला बेल्जियम में भी पाया गया था। संक्रमित महिला की पांच दिनों के अंदर मौत हो गई थी।