मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, अब मेडिकल कोर्स में OBC को 27% और EWS को 10% आरक्षण

नरेंद्र मोदी सरकार

देश के पिछड़े और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। सरकार ने देश के मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए ओबीसी और आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए आरक्षण को मंजूरी दे दी है।

सभी मेडिकल कोर्सेज में होगा रिजर्वेशन

केंद्र सरकार ने नए फैसले के मुताबिक, अब MBBS और BDS के ग्रेजुएशन कोर्स, पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स और डिप्लोमा स्तर के मेडिकल कोर्सेज में दाखिले अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के छात्रों को 27 प्रतिशत और आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग (EWS) के छात्रों को 10 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, सरकार के इस फैसले से हर साल MBBS कोर्स में ओबीसी के करीब 1500 स्टूडेंट्स और पोस्टग्रेजुएट में 2500 ओबीसी छात्रों को फायदा हो सकता है। इसी तरह MBBS में EWS के करीब 550 स्टूडेंट्स और पोस्ट ग्रेजुएशन में 1000 छात्रों को लाभ हो सकता है।

2021-2022 सेशन से लागू होगी व्यवस्था

केंद्र सरकार ने नई व्यवस्था को लेकर स्पष्ट किया है कि यह सिस्टम सेशन 2021-22 से लागू होगा। इसके तहत ऑल इंडिया कोटे के अंतर्गत आने वाले सभी UG और PG मेडिकल व डेंटल कोर्सेज में स्टूडेंट्स को रिजर्वेशन मिलेगा।