बेटी बचाओ अभियान सफल- देश में पहली बार पुरुषों से ज्यादा हुई महिलाओं की आबादी

Population of women in India

NFHS-5 Sex Ratio Data- देश में पहली बार महिलाओं की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। देश में अब हर 1000 पुरुषों पर महिलाओं की 1020 संख्या है। देश की आजादी के बाद यह पहला मौका है जो महिलाओं की संख्या देश में पुरुषों से ज्यादा है। भारत सरकार द्वारा लगातार बेटी बचाओ अभियान चलाने के बाद महिलाओं की संख्या में इजाफा हुआ है। यहआंकड़ा नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे का है। इससे पहले 2015-16 में हुए सर्वे में देश में एक हजार पुरुषों पर 991 महिलाओं की संख्या थी।

देश में महिलाओं की संख्या में बढ़ोतरी होने के साथ-साथ सेक्स रेश्यो में भी सुधार हुआ है। 2015-16 में जहां प्रति 1000 पुरुष पर 919 महिलाओं का था वहीं यह आंकड़ा 2,000 1921 में प्रति 1000 पुरुषों पर 919 महिलाओं का हो गया है।

  1. गांव की स्थिति बेहतर

nfhs-5 के आंकड़ों के हिसाब से यह सामने आया है कि सेक्स रेशियो में सुधार शहरों के मुकाबले गांव में ज्यादा हुआ है। भारत के गांव में आओ प्रति 1000 पुरुषों पर 1037 महिलाएं हैं। जबकि शहरों में प्रति 1000 पुरुषों पर महिलाओं की संख्या 985 है। इससे पहले nfhs-4 की रिपोर्ट में भी गांव में महिलाओं की संख्या पुरुषों से ज्यादा थी। उस सर्वे के हिसाब से गांव में प्रति 1000 पुरुषों पर 1009 महिलाएं थीं जबकि शहरों में यह आंकड़ा 956 का था।

सर्वे के हिसाब से अभी देश के 23 राज्य से हैं जहां प्रति 1000 पुरुषों पर महिलाओं की आबादी 1000 से ज्यादा है। उत्तर प्रदेश में प्रति एक हजार पुरुषों पर 1017 महिलाएं जबकि बिहार में 1090 महिलाएं हैं। वहीं दिल्ली में 933 महिलाएं प्रति हजार पुरुषों पर और मध्य प्रदेश में 970 महिलाएं प्रति हजार पुरुषों पर हैं।

राजस्थान में 1009 महिलाएं, छत्तीसगढ़ में 1015 महिलाएं, महाराष्ट्र में 966, पंजाब में 938, हरियाणा में 926 और झारखंड में 1050 महिलाएं प्रति हजार पुरुषों पर हैं।